तेरे दर पे आके मुझे क्या मिला है Lyrics | Tere Dar Pe Aake Mujhe Kya Mila Hai Lyrics

तेरे दर पे आके मुझे क्या मिला है Lyrics

तेरे दर पे आके मुझे क्या मिला है,
ये मैं जानता हु या तू जानता है

ज़माने की चल घट बड़ी बे तुकी है,
जिधर देख ता हु मैं उधर सब दुखी है,
गिर के दुखो में भी मैं क्यों सुखी हु,
ये मैं जानता हु या तू जानता है

चेहरे पे चेहरे सभी है लगाये,
चोट गेहरो से जयदा अपनों से खाये,
मुझे किस से कैसा शिकवा गिला है,
ये मैं जानता हु या तू जानता है

अकेला समज कर सताया जहां ने,
कदम दर दर मुझको रुलाया जहां ने.
कैसे हसी का ये कमल ये खिला है,
ये मैं जानता हु या तू जानता है

इसे भी पढ़ें   तेरी महिमा अपरम्पार Lyrics | Teri Mahima Aprampaar Lyrics

डुभे गई नैया कहती थी दुनिया,
पतन की उमीदो में रहती थी दुनिया,
नैया को कैसे किनारा मिला है,
ये मैं जानता हु या तू जानता है

अंदर घना था न दिखती थी राहे,
तूने समबाला मुझको फैला के बाहे,
नैनो को संजू कैसे उजाला मिला है,
ये मैं जानता हु या तू जानता है

Tere Dar Pe Aake Mujhe Kya Mila Hai Lyrics

Tere dar pe aake mujhe kya mila hai,
Ye main jaanta hoon ya tu jaanta hai.

Zamane ki chal ghat badi be tuki hai,
Jidhar dekh ta hoon main udhar sab dukhi hai,
Gir ke dukho mein bhi main kyun sukhi hoon,
Ye main jaanta hoon ya tu jaanta hai.

इसे भी पढ़ें   कान्हा रे थोडा सा प्यार दे लिरिक्स |Kanha Re Thoda Sa Pyar De Lyrics

Chehre pe chehre sabhi hai lagaye,
Chot gehre se jyada apno se khaye,
Mujhe kis se kaisa shikwa gila hai,
Ye main jaanta hoon ya tu jaanta hai.

Akela samajh kar sataaya jahan ne,
Kadam dar dar mujhko rulaya jahan ne.
Kaise hasi ka ye kamal ye khila hai,
Ye main jaanta hoon ya tu jaanta hai.

Dubhe gayi naiya kehti thi duniya,
Patan ki umido mein rahti thi duniya,
Naiya ko kaise kinaara mila hai,
Ye main jaanta hoon ya tu jaanta hai.

Andar ghana tha na dikhti thi rahe,
Tune sambhala mujhko phaila ke bahe,
Naino ko Sanju kaise ujala mila hai,
Ye main jaanta hoon ya tu jaanta hai.

इसे भी पढ़ें   छटा तेरी तीन लोक से न्यारी है Lyrics | Chhanta teri teen lok se nyari hai Govardhan Maharaj Lyrics
अपनों से साझा करें

Leave a Comment