Lyrics मनुष्य जन्म अनमोल रे मिटटी में न रोल रे | Manushya Janm Anmol Re Mitti Mein Na Roll Re Lyrics

मनुष्य जन्म अनमोल रे मिटटी में न रोल रे Lyrics

मनुष्य जन्म अनमोल रे मिटटी में न रोल रे,
अब जो मिला है फिर न मिलेगा-
कभी नही कभी नही रे

ओम साईं नमो नम श्री साईं नमो नम

तू सत्संग में आया कर गीत प्रभु के गाया कर,
साँझ सवेरे बैठ के बन्दे गीत प्रभु के लगाया कर,
नहीं लगता कुछ मोल रे मिट्टी में ना रोल रे
अब जो मिला है फिर ना मिलेगा,
कभी नही कभी नहीं कभी नही रे…

तू है बुद बुद पानी का,
मत कर जोर जवानी का,
समझ संभल के कदम रखो,
पता नही जिंदगानी का,
सबसे मीठा बोल रे,
मिट्टी में ना रोल रे,
अब जो मिला है फिर ना मिलेगा-
कभी नही कभी नहीं कभी नही रे…

इसे भी पढ़ें   अब तो आजा रे नारायण लेर गुडलो लिरिक्स | Ab to aaja re Narayan ler gudlo Lyrics

मतलब का संसार है किसका क्या इतवार है ,
समज समज के कदम रखो फूल नही अंगार है,
मन की आँखे खोल रे
मिट्टी में ना रोल रे,
अब जो मिला है फिर ना मिलेगा-
कभी नही कभी नहीं कभी नही रे…
मनुष्य जन्म अनमोल रे मिटटी में न रोल रे,

Manushya Janm Anmol Re Mitti Mein Na Roll Re Lyrics in English

Manushya janm anmol re, mitti mein na roll re,
Ab jo mila hai, phir na milega –
Kabhi nahi, kabhi nahi re

Om Sai namo nam, Shri Sai namo nam

Tu satsang mein aaya, kar geet Prabhu ke gaaya kar,
Saanjh savere baith ke bande, geet Prabhu ke lagaaya kar,
Nahi lagta kuch mol re, mitti mein na roll re,
Ab jo mila hai, phir na milega,
Kabhi nahi, kabhi nahi re…

इसे भी पढ़ें   Lyrics राम जी की जय हनुमान जी की जय | Ram ji ki jai Hanuman ji ki jai Lyrics

Tu hai bud bud paani ka,
Mat kar jor jawani ka,
Samajh sambhal ke kadam rakho,
Pata nahi zindagani ka,
Sabse mitha bol re,
Mitti mein na roll re,
Ab jo mila hai, phir na milega –
Kabhi nahi, kabhi nahi, kabhi nahi re…

Matlab ka sansar hai, kiska kya itwaar hai,
Samajh samajh ke kadam rakho, phool nahi angaar hai,
Man ki aankhein khol re,
Mitti mein na roll re,
Ab jo mila hai, phir na milega –
Kabhi nahi, kabhi nahi, kabhi nahi re…
Manushya janm anmol re, mitti mein na roll re.

अपनों से साझा करें

Leave a Comment