Man Ka Deep Jala Lyrics | मन का दीप जला,

Man Ka Deep Jala Lyrics in Hindi

मन का दीप जला, जीवन दीप जला, ख्वाबों में खोया है, जाग जरा मतवाले ; सच बतलाओ तेरे मन में रात कैसे छाई, अच्छा नहीं है देख सँभल जा, यीशु से है जुदाई, यीशु को अपना खवाबों में खोया है… यह दुनियाँ है ख्वाब सुनहरा इसमें जो फंस जाये, रोये तड़पे चैन न पाये, घुत घुत कर मर जाये, मन का मैल धुला ; ख्वाबों में खोया है… यीशु को तू अपने जीवन में, अपना मित्रा बना ले, छोड़ दे अब ये दुनिया सुनहरी, दुनिया से मन को फिराले, होगा तेरा भला ; ख्वाबों में खोया है…

इसे भी पढ़ें   हम हारे हारे हारे, तुम हारे के सहारे Lyrics | Hum Haare Haare Haare Tum Haare Ke Sahare Lyrics

Man Ka Deep Jala Lyrics in English

“Man ka deep jala, jeevan deep jala,
Khwaabon mein khoya hai, jaag jara matwaale;
Sach batao tere mann mein raat kaise chhaayi,
Achha nahi hai dekh sambhal ja, Yeshu se hai judaai,
Yeshu ko apna khwaabon mein khoya hai…
Yeh duniya hai khwaab sunehra ismein jo fans jaaye,
Roye tadpe chain na paaye, ghut ghut kar mar jaaye,
Man ka mail dhula; khwaabon mein khoya hai…
Yeshu ko tu apne jeevan mein, apna mitra bana le,
Chhod de ab ye duniya sunehri, duniya se mann ko phirale,
Hoga tera bhala; khwaabon mein khoya hai…”

अपनों से साझा करें

Leave a Comment