कितनी परीक्षा लिख दी है बाबा तूने भाग्य में मेरे Lyrics |Kitni Parikcha Baba Likh Di Hai Tune Bhagye Mein Mere Lyrics

कितनी परीक्षा लिख दी है बाबा तूने भाग्य में मेरे Lyrics

कितनी परीक्षा बाबा लिख दी है तूने भाग्ये में मेरे

चुपचाप बैठे सरकार थोड़ा वक़्त निकालो मेरे वासते,

तुमने भुलाया हम चले तेरे द्वार पर बाबा,
दर पे भूलके मुख को छुपाके बैठे क्यों मेरे बाबा,
डोर करो न एक बार थोड़ा वक़्त निकालो मेरे वास्ते,
चुपचाप बैठे सरकार….

कितनी परीक्षा बाबा लिख दी है तूने भाग्ये में मेरे,
अफ़सोस है ये डूब रही है नाइयाँ सामने तेरे,
हसने लगा है संसार,
थोड़ा वक़्त निकालो मेरे वासते,
चुपचाप बैठे सरकार….

हमको लगाए चौकठ तुम्हारी होगी मेरा किनारा,
हालत तो देखो दर पे हु तेरे फिर भी ढूंढू सहारा,
भक्ति हुई है शर्म सार,
थोड़ा वक़्त निकालो मेरे वासते,
चुपचाप बैठे सरकार….

इसे भी पढ़ें   हम हारे हारे हारे, तुम हारे के सहारे Lyrics | Hum Haare Haare Haare Tum Haare Ke Sahare Lyrics

कितनी परीक्षा बाबा लिख दी है तूने भाग्ये में मेरे

Kitni Parikcha Baba Likh Di Hai Tune Bhagye Mein Mere Lyrics in English

Kitni parikcha, Baba, likh di hai tune bhagye mein mere

Chupchap baithe sarkar, thoda time nikalo mere liye.

Tumne bhulaya, hum chale tere dwaar par, Baba.
Dar pe bhoolke mukh ko chhupa ke baithe kyun mere Baba
Dor karo na ek baar, thoda time nikalo mere liye.
Chupchap baithe sarkar…

Kitni parikcha, Baba, likh di hai tune bhagye mein mere,
Afsos hai ye doob rahi hai naiyaan saamne tere.
Hasne laga hai sansaar,
Thoda time nikalo mere liye,
Chupchap baithe sarkar…

इसे भी पढ़ें   Man Ka Deep Jala Lyrics | मन का दीप जला,

Humko lagaye chaukath tumhari hogi mera kinara,
Haalat to dekho dar pe hu tere, phir bhi dhundhu sahara.
Bhakti hui hai sharam saar,
Thoda time nikalo mere liye,
Chupchap baithe sarkar…

Kitni parikcha, Baba, likh di hai tune bhagye mein mere.

अपनों से साझा करें

Leave a Comment