Lyrics जब कोई तकलीफ सताए जब जब मन घबराता है | Jab Koi Taklif Sataye Bhajan Lyrics

जब कोई तकलीफ सताए जब जब मन घबराता है Lyrics

जब कोई तकलीफ सताए जब जब मन घबराता है
मेरे सिरहाने खड़ा कन्हैया सर पे हाथ फिराता है

लोग ये समझे मैं हूँ अकेला मेरे साथ कन्हैया है
लोग ये समझे डूब रहा में चल रही मेरी नैया है
जब जब लहरें आती है ये खुद पतवार चलाता है
मेरे सिरहाने खड़ा कन्हैया…

जिनके आंसूं कोई ना पोछें कोई ना जिनसे प्यार करे
जिनके साथ ये दुनियां वाले मतलब का व्यव्हार करे
दुनियां जिसको ठुकराये उसे ये पलकों पे बिठाता है
मेरे सिरहाने खड़ा कन्हैया…

प्रेम की डोर बंधी प्रीतम से जैसे दीपक बाती है
कदम कदम पर रक्षा करता ये सुख दुःख का साथी है
‘संजू’ जब रस्ता नहीं सूझे प्रेम का दीप जलाता है
मेरे सिरहाने खड़ा कन्हैया…

इसे भी पढ़ें   मेरी असुवन भीगे साड़ी आ जाओ कृष्ण मुरारी भजन | Meri Ashwan Bheegi Saadi Aa Jao Krishna Murari Bhajan Lyrics

जब कोई तकलीफ सताए जब जब मन घबराता है
मेरे सिरहाने खड़ा कन्हैया सर पे हाथ फिराता है

Jab Koi Taklif Sataye Bhajan Lyrics

Jab koi takleef sataye, jab jab mann ghabrata hai
Mere sirhaane khada Kanhaiya sar pe haath phirata hai

Log ye samjhe main hoon akela, mere saath Kanhaiya hai
Log ye samjhe doob raha mein chal rahi meri naiya hai
Jab jab lehren aati hai, ye khud patwaar chalata hai
Mere sirhaane khada Kanhaiya…

Jinke aansu koi na poche, koi na jinse pyaar kare
Jinke saath ye duniya wale matlab ka vyavhaar kare
Duniya jisko thukraye, use ye palakon pe bithata hai
Mere sirhaane khada Kanhaiya…

इसे भी पढ़ें   कन्हैया ले चल परली पार लिरिक्स | Kanhaiya Le Chal Parli Paar Lyrics

Prem ki dor bandhi preetam se, jaise deepak baati hai
Kadam kadam par raksha karta ye sukh dukh ka saathi hai
‘Sanju’ jab rasta nahi sujhe, prem ka deep jalaata hai
Mere sirhaane khada Kanhaiya…

Jab koi takleef sataye, jab jab mann ghabrata hai
Mere sirhaane khada Kanhaiya sar pe haath phirata hai

अपनों से साझा करें

Leave a Comment