Ambe Tu Hai Jagdambe Ji Ki Aarti Lyrics

Ambe Tu Hai Jagdambe Ji Ki Aarti Lyrics in Hindi

अम्बे तू है जगदम्बे काली, जय दुर्गे खप्पर वाली,
तेरे ही गुण गावें भारती, ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।

तेरे भक्त जनो पर माता भीर पड़ी है भारी।
दानव दल पर टूट पडो माँ करके सिंह सवारी॥
सौ-सौ सिहों से बलशाली, है अष्ट भुजाओं वाली,
दुष्टों को तू ही ललकारती।

ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती॥

माँ-बेटे का है इस जग मे बडा ही निर्मल नाता।
पूत-कपूत सुने है पर ना माता सुनी कुमाता॥
सब पे करूणा दर्शाने वाली, अमृत बरसाने वाली,
दुखियों के दुखडे निवारती।

ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती॥

इसे भी पढ़ें   तेरे दरबार में मैया खुशी मिलती है लिरिक्स | Tere darbar mein Maaya khushi milti hai Lyrics

नहीं मांगते धन और दौलत, न चांदी न सोना।
हम तो मांगें तेरे चरणों में छोटा सा कोना॥
सबकी बिगड़ी बनाने वाली, लाज बचाने वाली,
सतियों के सत को सवांरती।

ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती॥

चरण शरण में खड़े तुम्हारी, ले पूजा की थाली।
वरद हस्त सर पर रख दो माँ संकट हरने वाली॥
माँ भर दो भक्ति रस प्याली, अष्ट भुजाओं वाली,
भक्तों के कारज तू ही सारती।।

ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती॥

Ambe Tu Hai Jagdambe Ji Ki Aarti Lyrics in English

Ambe tu hai Jagdambe Kali, Jai Durga Khappar Wali,
Tere hi gun gaavein Bharti, O Maiya hum sab utaare teri Aarti.

इसे भी पढ़ें   तेरा चोला भी लाल तेरी चुनरी भी लाल लिरिक्स | Tera Chola Bhi Laal Teri Chunri Bhi Laal Lyrics

Tere bhakt jano par Mata bheer padi hai bhaari,
Daanav dal par toot pado Maa karke Singh sawaari.
Sau-sau sihon se balshaali, hai asht bhujao wali,
Dushton ko tu hi lalkaarti.

O Maiya hum sab utaare teri Aarti.

Maa-bete ka hai is jag me bada hi nirmal naata.
Put-kaput sune hai par na Maa suni kumaata.
Sab pe karuna darshaane wali, amrit barsaane wali,
Dukhiyon ke dukhde nivaarati.

O Maiya hum sab utaare teri Aarti.

Nahi maangte dhan aur daulat, na chaandi na sona.
Hum to maange tere charano mein chhota sa kona.
Sabki bigdi banaane wali, laaj bachaane wali,
Satiyon ke sat ko savaarati.

इसे भी पढ़ें   लहर लहर लहराए मैया तेरे मन के जवारे lyrics | Lehar Lehar Leharaaye Re Maiya Tere Mann Ke Javaare Lyrics

O Maiya hum sab utaare teri Aarti.

Charan sharan mein khade tumhari, le pooja ki thaali.
Varad hast sar par rakh do Maa sankat harne wali.
Maa bhar do bhakti ras pyaali, asht bhujao wali,
Bhakton ke kaaraj tu hi saarati.

O Maiya hum sab utaare teri Aarti.

अपनों से साझा करें

Leave a Comment