आज गली गली अवध सजायेंगे लिरिक्स | Aaj Gali Gali Avadh Sajayenge Lyrics

आज गली गली अवध सजायेंगे लिरिक्स

आज गली गली अवध सजायेंगे
आज पग पग पलक बिछाएंगे
आज गली गली अवध सजायेंगे
आज पग पग पलक बिछाएंगे

आज सूखे हुए पेड़ फल जाएंगे
नैना भीगे भीगे जाए
कैसे ख़ुशी ये छुपायेंगे राम आएंगे

आज गली गली अवध सजाएँगे
आज पग पग पालक बिछाएगे

आज गली गली अवध सजाएँगे
आज पग पग पलक बिछाएगे
आज सूखे हुए पेड़ फल जाएगे
नैना भीगे भीगे जाए
कैसे खुशी ये छुपाए राम आएँगे

कुछ समझ ना पाए
कहा फूल बिछाए राम आएँगे
नैना भीगे भीगे जाए
कैसे खुशी ये छुपाए राम आएँगे

कुछ समझ ना पाए
कहा फूल बिछाए राम आएँगे

सरयू जल थल रोई
जिसदिन राघव हुए पराये
ओ बिरहा के शो पर्वत पिघले
हे रघुराई तब तुम आए
ये वही क्षड़ है निरंजन
जिसको दशरथ देख ना पाए

साथ जन्मों के दुख कट जाएगे
आज सरजू के तट मुश्काएगे
मोरे नाचेगे पपिहा गाएगे

इसे भी पढ़ें   Lyrics हम कथा सुनाते रामसकल गुण धाम की | Ham Katha Sunate Ram Sakal Gundham Ki Lyrics

आज दाशो ये दिशए
जैसे सगुण मनाए राम आएँगे

नैना भेगे भेगे जाए
कैसे खुशी ये छुपाए
राम आएँगे

कभी ढोल बजाए
कभी द्वार सजाए राम आएँगे

कुछ समझ ना पाए
कहा दीप जलाए
राम आएँगे

जाके आसमनो से तारे मांग लाएगे
कौशल्या के लाला जी
सभी तुम पर लुटाएगे

14 साल जो रुके वो आसु अब बहाएगे
अवध में राम आएँगे
हमारे राम आएँगे

नील गगन से सवले
कूट सूर्य सा तेज
नारायण तन आए हे
शेष नाग जी से

राघव राघव करते थे
युग युग से दिन रें
आज प्रभु ने दर्शन दिया
धनी हुए हे नैन

नतमस्तक है तीनो लोक
और सुर नर करे प्रणाम
एक चंद्रमा एक सूर्या हे
एक जगत मे राम
एक जगत मे राम
एक जगत मे राम

आज दाशो ये दिशाए
जैसे शगुन मनाए राम आएँगे

नैना भीगे भीगे जाए
कैसे खुशी ये छुपाए राम आएँगे

कभी ढोल बजाए
कभी द्वार सजाए राम आएँगे
कुछ समझ ना पाए
कहा दीप जलाए राम आएँगे

इसे भी पढ़ें   Lyrics दुनिया चले ना श्री राम के बिना | Duniya Chale Na Ram Ke Bina Lyrics

आज गली गली अवध सजायेंगे
आज पग पग पलक बिछाएंगे
आज गली गली अवध सजायेंगे
आज पग पग पलक बिछाएंगे

Aaj Gali Gali Avadh Sajayenge Lyrics in English

Aaj gali gali Awadh sajayenge,
Aaj pag pag palak bichhayenge.

Aaj sookhe hue ped phal jaayenge,
Naina bheeghe bheeghe jaaye,
Kaise khushi ye chhupayenge, Ram aayenge.

Aaj gali gali Awadh sajayenge,
Aaj pag pag palak bichhayenge.

Sarayu jal thal royi,
Jis din Raghav huye paraye,
O biraha ke sho parvat pighle,
Hey Raghurayi tab tum aaye,
Ye wahi kshad hai niranjana,
Jisko Dasharath dekh na paaye.

Saath janmon ke dukh kat jaayenge,
Aaj Sarju ke tat muskayenge,
More nachenge papiha gaayenge.

Aaj dasho ye dishaye,
Jaise sagun manaaye, Ram aayenge.

Naina bhege bhege jaaye,
Kaise khushi ye chhupaye,
Ram aayenge.

Kabhi dhol bajaye,
Kabhi dwar sajaye, Ram aayenge.

Kuch samajh na paaye,
Kaha deep jalaye, Ram aayenge.

इसे भी पढ़ें   lyrics खुशियों का बाजा जनकपुर में बाजा | Khushiyon Ka Baza Janakpur Mein Baza Lyrics

Jake aasmano se taare maang laayenge,
Kaushalya ke lala ji,
Sabhi tum par lutaayenge.

14 saal jo ruke wo aasu ab bahaayenge,
Awadh mein Ram aayenge,
Hamare Ram aayenge.

Neel gagan se savale,
Koot soorya sa tej,
Narayan tan aaye hai,
Shesh Naag ji se.

Raghav Raghav karte the,
Yug yug se din re,
Aaj Prabhu ne darshan diya,
Dhani huye hai nain.

Natmastak hai tino lok,
Aur sur nar kare pranam,
Ek chandra, ek surya hai,
Ek jagat me Ram.

Aaj dasho ye dishaye,
Jaise shagun manaaye, Ram aayenge.

Naina bhege bhege jaaye,
Kaise khushi ye chhupaye,
Ram aayenge.

Kabhi dhol bajaye,
Kabhi dwar sajaye, Ram aayenge.

Kuch samajh na paaye,
Kaha deep jalaye, Ram aayenge.

Aaj gali gali Awadh sajayenge,
Aaj pag pag palak bichhayenge,
Aaj gali gali Awadh sajayenge,
Aaj pag pag palak bichhayenge.

अपनों से साझा करें

Leave a Comment